Home/Schemes/PMMVY

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना


  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून की धारा 4 का खंड (ख़) के अनुसार आंगनबाड़ी केंद्र में पंजीकृत प्रत्येक गर्भवती महिला एवं धात्री माताओं को 1 जनवरी 2017 को या उसके बाद की गर्भवती महिलाएँ एवं धात्री माताएँ (आंगनबाड़ी सेविका सहायिका एवं साहित्य (आशा) सहित सभी महिलाओं को गर्भाधारण से बच्चे के जनम के बाद 6 माह तक की अवधि में निम्न किश्तों एवं शर्तों के अनुसार पूरक पोषाहार के अतिरिक्त पोषण भत्ता के रूप में पोषण युक्त के लिए पोषाहार के निम्न आहार के लिए आंशिक सहयोग के रूप में नकद राशि उनके बैंक खाते के माध्यम से दी जाएगी |

    • प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना (सिर्फ 1 बच्चे के लिए), पूरक पोषाहार के अतिरिक्त पोषण भत्ता
      [रा.खा.सु.का. की धारा 4 (ख)]
      किनको कब क्यों किस प्रकार
      सभी गर्भवती महिला एवम् धात्री माता को [1 जनवरी 2017
      को या उसके बाद की गर्भवती महिलाएं एवं धात्री माताएं
      (आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका एवं सहिया सहित)]
      गर्भ धारण से बच्चे के जन्म के बाद 6 माह तक गर्भावस्था के दौरान मजदूरी में नुकसान की आंशिक भरपाई
      गर्भवती महिला एवं धात्री माता को स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त करने हेतु प्रोत्साहन राशि एवं
      पोषण युक्त आहार के लिए आंशिक सहयोग
      नगद बैंक ट्रान्सफर – किस्तवार बैंक खाता मे
    • क़िस्त का विवरण
      नगद ट्रांसफ़र(बैंक खाता में) कब कितना रुपया
      प्रथम क़िस्त पहले रजिस्ट्रेशन के बाद 1000
      दूसरा क़िस्त कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच के बाद (गर्भधारण के 6 माह के बाद ) 2000
      तीसरा क़िस्त १. बच्चे के जन्म का निबंधन एवं २. BCG, OPV, DPT एवं Hepatitis-B या इसके समतुल्य टीकाकरण के बाद 2000
      अंतिम क़िस्त जननी सुरक्षा योजना के अंतर्गत संस्थागत प्रसव के उपरान्त 1000

  • ससमय नगद पोषण सहायता राशि न मिलने की स्थिति में आप अपने जिला के जिला शिकायत निवारण पदाधिकारी के यहाँ सीधे शिकायत दर्ज़ कराएं (प्रपत्र का प्रारूप यहाँ से आप देख सकते हैं) अथवा ऑनलाइन शिकायत यहाँ दर्ज़ करें

  • प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से सम्बंधित विभिन्न आदेश एवं नियमावली
  • Maternity Benefit Plan
  • PMMVY Scheme Implementation Guidelines - MWCD_September 2017